Becoming a Doctor is
not a dream anymore

Why pay huge donations if
unable to clear NEET?

# Affordable MBBS in Belarus (Europe)

# World class infrastructure & faculties

About EduTraf

With great pleasure and enthusiasm, we wish to announce our new venture in the field of medical education. Students, who are unable to clear NEET, do not get govt. colleges and the only choice left with them is private colleges with huge fees and donations. Today's scenario is that a student from upper class only afford studies in a private medical institution. Why can't middle class student become a Doctor ? WHY PAY DONATIONS WHEN MCI APPROVED GOVT. UNIVERSITIES of BELARUS OFFER MUCH MORE IN MUCH LESS PRICE?? a total cost of Rs. 25-30 Lacs (for 6 years) including lodging and food.

This is a golden opportunity for all who dream of becoming a doctor. With world class technology and infrastructure, renowned faculty members and MCI recognition, these universities guarantee a bright future. Thousand have completed, hundreds go every year. Seats filling up fast, hurry, this is time to act.

Important Information

Please go through the info for further details.

MCI Approved Govt. Universities of BELARUS

English Language and Indian Food

24 hours supervision at Belarus

Fully secured country for Girls ang Boys

Hostel- Fully AC and HOT, Canteen, Indian Festival Functions

Practical Exposure- Very High/Degree- MBBS MD

Restriction- 100% focus on study

Pollution free country

Education Loan Provision- YES

Belarus Embassy is very supportive and cooperative

MCI Exit exam coaching after 3rd year/Also, part time job available after 3rd year.

क्या आप विदेश में मेडिकल की पढ़ाई करने की सोच रहे है?

MBBS का Admission NEET परीक्षा द्वारा होता है। अगर NEET में नम्बर नहीं आता है और उसे Doctor बनना है तो उसे India से बाहर ही पढ़ने जाना पड़ेगा, क्योंकि यहाँ एक करोड़ देने पर Management सीट पर Admission ले लेते थे, वो भी अब सरकार ने बंद कर दिया है।

तो आप को सबसे पहले सही जानकारी और उचितपरामर्श की आवश्यकता है। किसी भी देश में जाने से पहले वहाँ की सही जानकारी होना आवश्यक है। किसी भीलुभावने वादों में आकर अपना भविष्य किसी ऐसे आदमी यायूनिवर्सिटी के हाथ में देने से बचें जहाँ आप को उचित जानकारी न मिल सके।

1. सबसे पहले यहजानें की जिस यूनिवर्सिटी में आप जानेकी सोच रहे हैं वो यूनिवर्सिटी MCI/WHO से सम्बद्ध है या नहीं उसके लिए MCI की साइट पर जाकर चैक करें।

2. कम फीस के लुभावने वादे से बचें। क्योंकि 6 साल 8से 10 लाख में कोई भी युनिवर्सिटी रहना खाना पढ़ाई नहीं दे सकती है। अच्छी गुणवत्ता के साथ ये 6 साल आप केलिए बहुत कीमती हैं। पैसा वापस कमाया जा सकता है समय वापस नहीं आता।

3. जो पुराने बच्चे वहाँ पढ़ाई कर रहे हैं उनसे पूछें। ऐसा तो नहीं की केवल वह ले जाकर बस 6 साल पूरे किए जा रहे हैं। वहाँ पढाई के लिए उपयुक्त संसाधन और फैकल्टी टीम,हॉस्टल,मेंस,हॉस्पिटल्स उपलब्ध हैं या नहीं।

4. 10 देशों की बातें करने वाले लोगो से बचेंक्योंकि एक आदमी एक देश मेंबच्चोंकी सही देखभाल कर सकता है ना कि 10 देशो में। 10 देशो में भी जहाँ ज्यादा फायदा होगा, वो वहीं भेजेंगे। पढ़ाई से मतलब नहीं।

5. ऐसे लोगो से बचें जो भारत में कम प्रोसेसिंग फीस लेकर वहां ले जाते हैं और वहाँजाकर अलग अलग तरह की चार्जेज मांगते हैं।पहले सारे खर्चे क्लियर करवा लें ताकि आप का बजट आगे जाकर न बिगड़े।कम पैकेज बताकर बाद में बढ़ाने वालों से बचें।

6. अभिभावक सबसे ज्यादा ये देखें की वहाँ पढ़ाई का माहौल अच्छा हो, क्योंकिबच्चों के लिए ये 6साल बहुत कीमती हैं।अगर पढ़ाई पर इन 6 सालो में ध्यान नहीं दिया गया तो स्क्रीनिंग एग्जाम पास करना मुश्किल होता है।

7. अभिभावक ये भी जानकारी सही से कर लें कि कहींबहुत से लोग झूठ बोल कर 4.8 साल का कोर्स बताकर लेजाते हैं जबकि वहाँ जाने के बाद पता चलता है कि 6 सालका कोर्स है।कुछ ही जगह 4.8 साल का कोर्स चलता है।यूरोप में 6 साल का कोर्स है।अतः उपयुक्त जानकारी केसाथ निर्णय लें।

8. बहुत से देशो में 6 साल इंग्लिश में पढ़ाई के वादे किएजाते हैं मगर वहाँ जाने पर पता चलता है कि वहाँ कीलोकल भाषा में पढ़ाया जा रहा है।अतः अवश्य चैक कर लें की पढाई किस भाषा में चलेगी।

9. कई देशों में दूतावास तक नहीं है मगर लोग पास के देशके दूतावास को बता कर ले जाते हैं जहाँ MCI ने साफ मनाकिया है।

10. सबसे मुख्य बात भारत और उस देश के संबंध कैसे हैंये देखना बहुत आवश्यक है। क्योंकि अगर भारत और उसदेश के संबंध ख़राब हैं तो भारतीय छात्रों को आगे मुश्किल हो सकती है।

11 ये अवश्य देख लें कि उस देश में जहाँ आप जा रहे हैं Terrorism या Corruption तो नहीं है ताकि भविष्य मेंकोई दिक्कत न आये।आये दिन हम खबरें पढ़ते हैं।

12. स बसे महत्वपूर्ण बात बहुत से देशो में जहाँ Corruption है वहाँ एजेंट्स प्रथम वर्ष की फीस बढ़ा कर दिलाते हैं ताकि उनको ज्यादा COMMISSION मिलसके। अतः उचित जानकारी कर लें।अगर ऐसा होता है तोआप खुद सोचेंकि प्रथम वर्ष ज्यादा और दूसरे वर्ष कमकैसे हो सकतीहै।

13. मेडिकल में अगर भारत में डॉक्टर बनने का अपना सपना पूरा करना है तो 6 वर्ष तक पूरी मेहनत और लगन सेतैयारी जरूरी है अतः सही देश और यूनिवर्सिटी का चुनाव करें।

14. बहुत से देशों में लोग कोचिंग के नाम से बच्चे ले जाते हैं की वहाँ प्रथम वर्ष से कोचिंग चलायी जाएगी मगर आप खुद सोचे अगर आप को 6 वर्ष तक अच्छे सेMCI SYALLBUS के आधार पर पढाई करायी गयी तो क्या आप को अलग से कोचिंग करने की आवश्यकता है।MCI कोचिंग से सिर्फ स्क्रीनिंग में आप को सहयोग मिल सकता है न की आप का अच्छा डॉक्टर बनने का सपना,क्योंकि जब तक अच्छे से पढाई और प्रैक्टिकल आप को नहीं मिलेगा किसी कोचिंग से आप एक SUCCESSFULडॉक्टर नहीं बन सकते। अतः ये अवश्य देख ले की वहाँ 6 साल तक जो क्लासेज में और हॉस्पिटल में प्रैक्टिस करायी जाएगी वो उपयुक्त है या नहीं। कोचिंग सभी जगह आप को मिल सकती है अच्छी पढाई नहीं क्योंकि कोचिंग से अलग से उनकी कमाई शुरुहोती है।

अब हम यूरोप का देश बेलारूस (जो सबसे सुरक्षित देश है, भारतीय खाना है, English भाषा है एवं सभी यूनिवर्सिटीज़ सरकारी हैं) को Recommend करते हैं। जहाँ न तो अराजकता है न ही कोई भ्रष्टाचार या गुण्डागर्दी है। लड़कियाँ यहाँ ज्यादा सुरक्षित हैं।

बेलारूस में पढ़ाई के लिए अच्छे अवसर – बेलारूस में सही पढ़ाई के साथ साथ किसी भी प्रकार काTerrorism या Corruption नहीं है। वहां की सभीयूनिवर्सिटी सरकारी हैं एवं MCI/WHO से मान्यता प्राप्त हैं एवं बरसों सेMCI में लिस्टेड है।बेलारूस में 4 मेडिकल यूनिवर्सिटी हैं जहाँ इंडियन पहले से पढ़ाई करके आये हुए हैं जो भारत मेंसरकारी डॉक्टर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।बेलारूसकी सभी यूनिवर्सिटीज में रहने खाने की उपयुक्त व्यवस्था है। प्रैक्टिकल के लिए खुद के हॉस्पिटल क्लिनिक उपलब्ध हैं। बड़े बड़े कैंपस के साथ उपयुक्त क्लासेज रूम,लैब,कॉरिडोर,प्ले ग्राउंड,सेमिनार रूम सर्व सुविधा युक्त है। बेलारूस के लिए भारतीय बैंक लोन की सुविधा उपलब्धकराती है।

बेलारूस में सिर्फ बच्चों की उच्च स्तर की पढाई के साथसाथ उनके शारीरिक विकास के लिए अलग से स्पोर्ट्स सेन्टर खोले गये हैं

What Students Says

Lorem Ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry. Lorem Ipsum has been the industry's standard dummy text ever since the when an printer took a galley of type and scrambled it to make [...]

David Matin Student

Lorem Ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry. Lorem Ipsum has been the industry's standard dummy text ever since the when an printer took a galley of type and scrambled it to make [...]

David Matin Student

Lorem Ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry. Lorem Ipsum has been the industry's standard dummy text ever since the when an printer took a galley of type and scrambled it to make [...]

David Matin Student